स्कोप समाचार

(13/Jul/2015)

कैंपस कार्निवाल

स्कोप कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में कैंपस कार्निवाल का आयोजन सफलतापूर्वक किया गया। इस कार्निवाल में 10 से अधिक कंपनियों ने भाग लिया। यह हाल ही में स्नातक की उपाधि प्राप्त किये हुए छात्र-छात्राओं के लिये था। इसमें भोपाल, रायसेन, सीहोर, होशंगाबाद, विदिशा के 500 से अधिक विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया। युरेका फोर्ब्स, रिलांयस एच. आर. सर्विसेज, शिव-शक्ति ग्रुप, श्योंरविन, फर्स्ट सोर्स, आई. टी. एम. सेल्स एकेडमी आदि नामी कंपनियों ने इस कार्निवाल में भाग लिया। 162 विद्यार्थियों का चयन कंपनियों में विभिन्न पद जैसे सेल्स, आपरेशन्स, मार्केटिंग, ग्राहक सेवा आदि क्षेत्रों में हुआ। स्कोप कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के ट्रैनिंग एंड प्लेसमेंट डायरेक्टर श्री उद्दीपन चटर्जी के अनुसार स्कोप कॉलेज में 30 से अधिक कंपनियों का कैंपस इस वर्ष आ चुका है और आने वाले महीनों में बड़े पैमाने पर कंपनियों के आने की योजना है। कॉलेज प्रबंधन ने सभी विद्यार्थियों के और उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

इसरो विजिट

स्कोप कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के ई.सी. फाइनल ईयर के विद्यार्थियों ने भोपाल स्थित इसरो की मास्टर कंट्रोल फैसीलिटी का भ्रमण किया। भोपाल स्थित इस केन्द्र से इसरो के जियो स्टेशनरी सेटेलाइट की मॉनीटरिंग व कंट्रोल होता हैं। विद्यार्थियों ने यहाँ बैंड फ्रिक्वेंसी सेक्शन, पॉवर स्टेशन सेक्शन, सैटेलाइट सेक्शन, कंट्रोलिंग सेक्शन, विजिट किये। विद्यार्थियों को यह जानकारी मिली कि किस तरह इनकोडिग व डिकोडिंग होती हैं। अपलिंक, डाऊनलिंक, आवृति व कन्वरटर सैटेलाइट को समझा। राडार के कार्य व ट्रेकिंग के फंक्शन देखे। विद्यार्थियों के अनुसार यह विजिट उनके लिये लाभकारी रही। इस विजिट में प्रो. आर.पी.गुप्ता, प्रो. भारती चौरसिया, प्रो. अभिनय गुप्ता विद्यार्थियों के साथ रहे। इसरो के श्री हरीश व श्री राजेन्द्र ने सभी को गाईड किया। स्कोप कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में समय-समय पर औद्योगिक भ्रमण कराया जाता हैं। जिससे विद्यार्थियों को प्रेक्टीकल नॉलेज भी मिलें।

सांइस सेन्टर विजिट

स्कोप कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के बीई व पॉलीटैक्नीक प्रथम वर्ष के छात्र-छात्राओं को भोपाल स्थित रिजनल सांईस सेंटर विजिट पर ले जाया गया। इस विजिट में विधार्थियों को भौतिकी, रसायन, ऊर्जा पर्यावरण के विभिन्न सिद्धांतो को प्रेक्टिकल रूप में देखने को मिला। न्यूटन थर्ड ला, पेंडुलम, अपारंपरिक ऊर्जा स्रोत के उदाहरण विधार्थियों ने देखे। सभी विधार्थियों ने 3 डी फिल्म देखी। तारामण्डल में विधार्थियों ने तारों, सुपरनोवा के सम्बन्ध में जानकारियाँ प्राप्त कीं। फन साइंस सेंटर में विधार्थियों ने प्रेक्टिकल विज्ञान के सिद्धान्तों को मनोरंजन के साथ समझा। एटमोस्फीयर सांईस एग्जीवीशन भी छात्र-छात्रों ने विजिट की। स्कोप कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग समय-समय पर इंड्रस्टीयल विजिट कराता है जिससे विधार्थियों को लाभ होता है। इस विजिट में प्रो. आर. पी. गुप्ता, प्रो. अजय घोष, प्रो. पूर्णिमा अरोड़ा व बड़ी संख्या में विधार्थी शामिल थें।