आईसेक्ट समाचार

(19/Mar/2017)

वित्तीय साक्षरता अभियान-भारत को डिजिटल बनाने की पहल

मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय के आदेशनुसार आईसेक्ट विश्वविद्यालय में विŸाीय साक्षरता अभियान की शुरुआत की गई। विश्वविद्यालय ने छात्रों और एक्सपर्ट्स फैकल्टी का दल गठित कर यह कार्य प्रारंभ किया। प्रथम चरण में विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के इस दल को टेªंड किया गया। ये विद्यार्थी कैश-लेस ईकॉनॉमी को प्रोत्साहित करने साथ ही ग्रामीण लोगों को भयमुक्त होकर ऑनलाईन पेमेंट, ऑफलाईन पेमेंट को दैनिक जीवन में अधिक से अधिक उपयोग करना सिखायेंगे। आईसेक्ट विश्वविद्यालय की कॉमर्स विभाग की डीन डॉ. दीप्ति महेश्वरी, असिस्टेंट प्रोफेसर जयंत मिश्रा और मैनेजमेंट विभाग की एचओडी डॉ. संगीता जौहरी ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि वित्तीय शिक्षा आज के युग में बहुत आवश्यक हो चुकी है। लोगों को वित्त की जानकारी होना अनिवार्य है ताकि वो सही फैसले ले सकें। आप और हम मिल कर अपने देश को प्रगति के मार्ग पर ले जा सकते हैं और अपने देश को डिजिटल इंडिया बना सकते हैं। विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. विजय सिंह ने बताया कि इस अभियान में सबसे पहले हम यूनिवर्सिटी को कैश लेस करने का कार्य करेंगे। इसके साथ ही आस-पास के लोगों को डिजिटल तरीकों से साक्षर करने का प्रयास किया जायेगा। आस-पास के ग्रामीणों और दुकानदारों को भी इसके प्रति जागरुक किया जायेगा।