तकनीकी समाचार

(12/Mar/2015)

गूगल भारत ला रहा है दुनिया का सबसे तेज इंटरनेट

अब आपको 1 जीबी तक की मूवी डाउनलोड करने में मात्र 1 सेकेंड का समय लगेगा। भारत में गूगल सबसे तेज इंटरनेट सर्विस लेकर आने वाला है। गूगल इंटरनेट को गूगल फायबर नाम से जाना जाता है तथा कंपनी इसे भारत लाने के लिए सरकार के आईटी मंत्रालय से बातचीत करने जा रहा है। यदि बातचीत सफल रही तो 2015 में यह सर्विस भारत में शुरू हो सकती है। गूगल फायबर इंटरनेट की सुविधा फिलहाल यूएस में मिल रही है। भारत में इसे डिजिटल इंडिया प्लान के तहत लाने की योजना बनाई जा रही है। फिलहाल भारत में इंटरनेट की औसत स्पीड 1.7 एमबीपीएस है, लेकिन गूगल फायबर आने के बाद इसमें जबरदस्त इजाफा होने वाला है। गौरतलब है कि गूगल फायबर इंटरनेट को पहली बार 2012 में पेश किया गया था। यह दुनिया का सबसे तेज कॉमर्शियल इंटरनेट और टीवी सर्विस है। इस इंटरनेट के तहत 1000 एमबीपीएस (1जीबीपीएस) की गति से मूवी और वीडियो डाउनलोड और अपलोड किए जा सकते हैं। 

आ गई व्हाट सिम, नहीं लगेगा इंटरनेट चार्ज!

इटली की एक कंपनी ने वॉटसिम को लॉन्च किया है। कंपनी ने इस सिम में व्हाट्सएप यूजर्स को एक ऐसी सुविधा दी है, जिससे वे 150 देशों में यात्रा के दौरान फ्री व्हाट्सएप प्रयोग कर सकेंगे। इस अनोखी व्हाट्सएप ओनली सिम को इटालियन कंपनी जीरो मोबाइल लेकर आई है। इसकी सबसे खास बात ये है कि इसके तहत यात्रा के दौरान दूसरे नेटवर्क सर्किल में जाने अथवा विदेश में जाकर व्हाट्सएप यूज करने पर रोमिंग चार्ज नहीं लगता। खबरों के अनुसार  व्हाट सिम के तहत व्हाट्सएप यूज करने पर इंटरनेट का उसके स्थायी सर्किल की तरह चार्ज लगता है। इस व्हाट्सएप ओनली सिम की कीमत 10 यूरो (लगभग 714 रुपए) रखी गई है। इसके तहत 5 यूरो (लगभग 350 रुपए) तक की वेल्यू के टेक्सट मैसेज एक साल तक के बिलकुल फ्री में कर सकते हैं। यह सिम दूसरे सर्किल समेत दुनिया के 150 देशों में काम करती है। इस सिम को व्हॉटसिम की वेबसाइट से ऑनलाइन बिक्री के लिए जारी किया गया है।

बोल कर रास्ता बताएगा गूगल

गूगल अब भारतीय यूजर्स के लिए अपने गूगल मैप्स में एक नया फीचर लेकर आया है। इस नए फीचर का लुत्फ भारत में सभी एंड्रॉयड और आईफोन, आईपैड इस्तेमाल करने वाले यूजर्स उठा सकेंगे। गूगल के इस नए फीचर का नाम ‘लेन गाइडेंस’ है। इस फीचर की मदद से अब यूजर को जिस लेन में जाना होगा उसके बारे में वॉयस-गाइडेड इंस्ट्रक्शन मिलेगी। जिसमें उसे नेविगेशन मोड के दौरान बताया जाएगा कि उसे जिस लेन में वो है उसी में आगे बढ़ना है या फिर दूसरी लेन से जाना होगा। मोबाइलों पर मौजूद गूगल मैप्स का ये नया फीचर भारत के 20 शहरों की मुख्य सड़कों के बारे में जानकारी देगा। जिन शहरों में ये नया फीचर काम करेगा उनमें अहमदाबाद, बेंगलुरू, भोपाल, चंडीगढ़, चौन्नई, कोइंबटूर, दिल्ली, हैदराबाद, इंदौर, जयपुर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई, मैसूर, नागपुर, पुणे, सूरत, थिरूवनंतपुरम, वडोडदरा, विशाखापटनम शामिल हैं। इस नए फीचर की मदद से ड्राइवर्स को भारत के सभी मुख्य एक्सप्रेसवेज के साथ-साथ मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे की भी लेन गाइडेंस मिलेगी। साथ ही ड्राइवरों को अंग्रेजी व हिंदी में हर एक टर्न लेने की जानकारी वॉयस इंस्ट्रक्शन के जरिए मिलेगी। अपनी भाषा चुनने के लिए यूजर को हिंदी व अंग्रेजी में से एक भाषा का चयन करना होगा।