तकनीकी समाचार

(02/Feb/2015)

अब माइक्रोसॉफ़्ट पर भी चलेगा बिटकॉइन

माइक्रोसॉफ़्ट ने बिटकॉइन के जरिए भी अपनी सेवाओं के लिए भुगतान लेना शुरू कर दिया है। इस वर्चुअल करंसी का इस्तेमाल माइक्रोसॉफ़्ट के खाते में धन जमा कराने के लिए किया जा सकता है। यह धन माइक्रोसॉफ़्ट की सेवाओं पर खर्च किया जा सकता है। एक्स बॉक्स के गेम्स, वीडियो, एप्स या फिर विंडोज़ फ़ोन के लिए सेवाएं और माइक्रोसॉफ़्ट के सॉफ़्टवेयर खरीदने के लिए इस धन का इस्तेमाल हो सकता है। माइक्रोसॉफ़्ट ने इस बारे में कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है। लेकिन अपने ग्राहक सेवा पन्ने पर एक अलग पन्ना जोड़ दिया है जिसमें बताया गया है कि इस वर्चुअल करंसी का इस्तेमाल कैसे माइक्रोसॉफ़्ट पर किया जा सकता हैं। फ़िलहाल बिटकॉइन्स का इस्तेमाल केवल अमरीका के ग्राहकों के लिए ही है। इतना ही नहीं बिटकॉइन एक निश्चित धनराशि के लिए ही इस्तेमाल हो सकते हैं। बिटकॉइन धीरे-धीरे बाज़ार में अपने लिए जगह बना रहे हैं। अब पे-पाल, डेल, एक्सपीडिया और कई दूसरी कंपनियों ने इनके जरिए भुगतान लेना शुरू कर दिया है। बिटकॉइन ऑनलाइन भुगतान का जरिया है। इसे डिजिटल या गुप्त मुद्रा का नाम भी दिया गया है। इसके लिए कोई केंद्रीकृत व्यवस्था नहीं है। लोग कठिन गणना और गुप्त कोडिंग के जरिए खुद अपनी मुद्रा जमा करते और फिर खर्च करते हैं। मुद्रा जमा करने को माइनिंग कहा जाता है। धन एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाने के बदले में एक मामूली फीस ली जाती है जो क्रेडिट कार्ड की तुलना में बहुत कम होती है। हालांकि क्रेडिट कार्ड के उलट इसमें खरीदार को ही यह फीस चुकानी होती है।

भेजें रेडीमेड मैसेज

कई बार आप छोटी-छोटी बातों के लिए मिसकॉल करते हैं जैसे कि तैयार हो गए या घर से निकल गए या ऑफिस पहुंच गए। इन छोटी-छोटी बातों के लिए मिसकॉल करने की बजाए अब आप केवल एक टैप से अपने दोस्तों को इनफॉर्म कर सकते हैं। अब नया फीचर एसएमएस की दुनिया में बड़ा बदलाव कर देगा। यह एक नया कम्यूनिकेशन मैकेनिजम है, जो नोटिफिकेशन देता है। इससे आप सौ  कस्माइजेबल कैरेक्टर या ईमो भेज सकते हैं और वह भी केवल एक सिंगल टैप पर। इस फीचर की सबसे अच्छी बात यह है कि यह पूरी तरह से प्राइवेट है जो किसी भी तरह की बातचीत को ना तो डिवाइस पर सेव करता है और ना ही सर्वर पर। इसमें ग्रुप टैप फीचर भी है, जिसकी मदद से आप एक साथ कई नंबर्स पर मैसेज भेज सकते हैं। सबसे अच्छी बात यह है कि ‘टैप’ फीचर फ्री है। इसमें आप एक एमबी में एक हजार नोटिफिकेशन भेज सकते हैं। 

सबसे पतले इलेक्ट्रिक जेनरेटर 

अनुसंधानकर्ताओं का दावा है कि उन्होंने सबसे दुबला जेनरेटर विकसित किया है, जो देखने में ट्रांसपैरेंट, बेहद हल्का, मोड़ा जा सकने वाला और खींचकर लंबा किए जा सकने की क्षमता से लैस होगा। कोलंबिया इंजीनियरिंग ऐंड जॉर्जिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलॉजी के रिसर्चर्स ने इसे पीजोइलेक्ट्रिसिटी नाम दिया है और पहली बार इसका एक्सपेरिमेंटल ऑब्जर्वेशन किया है। ये कमाल है मॉलेब्डेनम डाइसल्फाइड का। वैज्ञानिकों ने इसे एटॉमिक रूप से बेहद पतले मैटीरियल में डाला और इसका पीजोट्रॉनिक इफेक्ट देखा। रिसर्चर्स ने पावर प्रोडक्शन कर इसका डिमॉन्सट्रेशन भी किया। एक खास बात और इस जेनरेटर में कि पीजोइलेक्ट्रिक इफेक्ट को इससे पहले केवल थिऑरिटिकली ही समझा गया था। पीजोइलेक्ट्रिसिटी एक ऐसा इफेक्ट है, जिसमें किसी मैटीरियल को खींचने या दबाने से बिजली पैदा होती है।